Jain Shastro ki Asangat Bate

जैनशास्त्रों की असंगत बाते

25

Book discloses the irrelevant, illogical and baseless things propagated by Holy Books of Jainism.

जैन शास्त्रों की असंगत बाते नामक पुस्तक में लगभग हर एक उस बात को उजागर किया है, जिसमें कोई तथ्य नहीं है, कोई तर्क नहीं है, तथा जिनका कोई आधार एवं वास्तविक सत्य नहीं है |

Language: Hindi
Publisher: Ved Jyoti Press
SKU: 10039 Category:

Available Check At

Cover Paper Back
Length (cms) 17.5
Width (cms) 12.0
Height (cms) 1.0
Qty Single Book
Translation / Original Original
Translator
Current Copy Year 2015
Total Page 212

जैन शास्त्रों की असंगत बाते नामक पुस्तक में लगभग हर एक उस बात को उजागर किया है, जिसमें कोई तथ्य नहीं है, कोई तर्क नहीं है, तथा जिनका कोई आधार एवं वास्तविक सत्य नहीं है | Specifications : Cover Paper Back Length (cms) 17.5 Width (cms) 12.0 Height (cms) 1.0 Qty Single Book Translation / Original Original Translator Current Copy Year 2015 Total Page 212
Weight 190 g
Dimensions 17.5 × 12 × 1.0 cm
Language

Hindi

Authors

Bachchharaj Sindhi

Publisher

Ved Jyoti Press

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.